vechar veethica

सम्भावनाओं से समाधान तक

30 Posts

222 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 1178 postid : 678631

मेरा संकल्प - २०१४ ( अटल संकल्प ब्लॉग आमंत्रण )

Posted On: 31 Dec, 2013 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

जागरण जंक्शन मंच पर नये साल के संकल्प का आह्वाहन पढ़ कर , पहली बार मन इस प्रकार के किसी संकल्प की ओर उन्मुख हुआ | ऐसा तो नहीं ,इस शब्द से पहले परिचय नहीं था , परन्तु इससे कोई संबंध स्थापित करने का कभी विचार ही नहीं आया | जीवन में यदाकदा परिस्थितियों के अनुसार कुछ निश्चय अवश्य किये और उनको पूरा भी किया | परन्तु सार्वजनिक रूप से इस प्रकार का कोई संकल्प लेने का जीवन में प्रथम अवसर है | कुछ पाठकों के लिए यह आश्चर्य का विषय हो सकता है , परन्तु एक मध्यवर्गीय परिवार का व्यक्ति , जिसको परिस्थितियों ने एकाकी और अंतर्मुखी व्यक्तित्व प्रदान किया , और जिसकी जीवन सरिता शिक्षा , फिर नौकरी , फिर परिवार और परिवार के उत्तरदायित्वों के कूल किनारों के मध्य नितांत स्थिर गति से बहती रही हो , उसके लिए यह एक सामान्य बात है | ऐसा भी नहीं की जीवन में उतार चढ़ाव , सुख दुःख , सफलताएं असफलताएं , हादसे और आश्चर्य ना आये हों , परन्तु परिवार के संस्कारों ने यह आत्मसात करा दिया था , कि यह ही जीवन है | अतः इनसे ना कभी विचलित हुआ और ना कभी विशेष उत्साहित | इस लिए कभी किसी संकल्प की आवश्यकता ही नहीं आन पड़ी | एक धर्मनिष्ठ परिवार का अंग होने के नाते अनुशासन , ईमानदारी , कर्तव्यनिष्ठा , दया , प्रेम , करुणा , देश और समाज के कल्याण की इच्छा आदि तो जीवन जीने की कला के अनिवार्य और स्थाई रंग रहे | फिर संकल्प किस बात का लेता |

आज जब कोई संकल्प लेने का विचार मन में आ रहा है , तो सोचता हूँ , कि कैसा संकल्प लेना चाहिए | विचार आ रहा है , संकल्प , समाज के कल्याण का होना चाहिए , समाज को कुछ दे सकने का होना चाहिए | संकल्प , अपने स्वयं में किसी आभाव अथवा विकृति के सुधार का होना चाहिए | मैं समाज को क्या दे सकता हूँ ? मैं अपना मूल्यांकन करता हूँ | मेरा अब एक परिचय ब्लॉगर के रूप मेँ भी है | मैने ब्लॉग लिखना , अपने अंदर के एकाकीपन को भरने के लिए , प्रारम्भ किया था | बिना किसी आकांक्षा अथवा अन्य उद्देश के | विचारों के उद्द्वेग को जब कोई प्रत्यक्ष साझीदार नहीं मिलता , तब उन्हे इस मंच पर प्रस्तुत कर , अनेक अनजान साथियों के साथ साझा कर संतुष्ट हो जाता था | अनेकों विद्द्वान ब्लॉगर्स ने अपनी तथ्यपूर्ण कमेंट्स के द्वारा न केवल मेरा उत्साहवर्धन किया वरन मेरे एकाकीपन को भी सिमित करने मेँ सहायक हुए | जागरण जंक्शन मंच द्वारा २०१३ मेँ , हिंदी पखवारे के अवसर पर आयोजित प्रतियोगिता मेरे लिए महत्वपूर्ण रही | इसके शीर्ष ३० प्रतिभागियों मेँ अपना नाम देख कर , एक आत्मविश्वास उत्पन हुआ कि मै भी कुछ सार्थक लिख सकता हूँ | आज जब समाज को कुछ देने के विषय पर विचार कर रहा हूँ , तो पाता हूँ कि मैं कलम के माध्यम से भी समाज की सार्थक सेवा कर सकता हूँ |

अब यदि मैं अपनी कमियों पर दृष्टि डालता हूँ , तो पाता हूँ कि मैने अपना पहला ब्लॉग १३ , फरवरी २०११ को शहीदों के शौर्य कार्यों को सम्मानजनक सम्बोधन चाहिए शीर्षक से लिखा था | आज लगभग चार वर्षों के उपरांत , मात्र १९ ब्लॉग पोस्ट | निश्चित ही यह बहुत बड़ी कमी है | मुझको इस ओर , और अधिक गम्भीर होना चाहिए था , और अधिक अनुशासित होना चाहिए था , और अधिक नियमित होना चाहिए था | मैं अपनी इन कमियों को शिद्द्त से महसूस कर रहा हूँ | इसलिए

आज जब पहली बार जीवन मेँ सार्वजनिक रूप से संकल्प करने जा रहा हूँ , तो कोई बहुत बड़ा संकल्प करने का साहस मुझमें नहीं है | मैं मात्र इतना ही संकल्प करता हूँ , कि वर्ष २०१४ में ,मैं नियमित रूप से प्रति माह कम से कम दो ब्लॉग पोस्ट अवश्य लिखुगा | मैं कोशिश करूंगा कि इस वर्ष मेरे ब्लॉग पोस्टों कि संख्या ५० के पार अवश्य पहुचे | कुछ लोगों के लिए यह हास्यासपद हो सकता है , परन्तु मेरे लिए यह ही महत्वपूर्ण है |

अब रही बात कि इस संकल्प को मैं पूरा कैसे करूंगा | इस राह मेँ मेरी सबसे बड़ी बाधा , मेरा कम्प्यूटर और उसकी तकनीकों के पर्याप्त ज्ञान का आभाव है | इस आभाव को मैं समुचित प्रशिक्षण और सतत अभ्यास के द्वारा दूर करने का निश्चय करता हूँ | इसके अतिरिक्त मैं अनुभव करता हूँ , कि संकल्प को पूरा करने के लिए मुझको अपनी अंतर्मुखी प्रवृति से बाहर आना होगा | पुस्तकों के अतिरिक्त मनुष्यों का अध्ययन करना होगा | मैं इसकी कोशिश करूंगा |

अंत मेँ मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ ,कि आने वाला वर्ष सभी ब्लॉगर साथियों के लिए सुख , समृद्धि और शांति लेकर आये | सबके घरों मेँ खुशियां बेशुमार आयें | जिन ब्लागर्स ने संकल्प लिए हैं , ईश्वर उन सब संकल्पों को पूर्ण करने मेँ सहायक हों | सन २०१४ मेँ मेरा देश भारत और अधिक सशक्त , समृद्ध , एवं सम्पन्न होकर नयी बुलंदियों कि ओर गतिमान हो | जागरण जंक्शन मंच और उसके समस्त संचालकों को नये वर्ष कि बहुत बहुत शुभकामनायें |

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

10 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

pkdubey के द्वारा
July 3, 2014

वाह सर.आप को नमन.मैं आप के पास होता,तो आप व्यास जैसे बोलते रहते और मैं चुपचाप लिखता रहता. सादर प्रणाम.इस नयी पीढ़ी को आप के अनुभव की बहुत आवश्यकता है.

DR. SHIKHA KAUSHIK के द्वारा
January 3, 2014

आपके संकल्प पूरे हो .विजयी संकल्प हेतु बधाई व् नव वर्ष की मंगलकामनाएँ ।

sadguruji के द्वारा
January 3, 2014

आदरणीय अनिल कुमारजी,‘अटल संकल्प ब्लॉग आमंत्रण’ में विजेता बनने पर बधाई और नववर्ष की बधाई.

    anilkumar के द्वारा
    January 3, 2014

    आदर्णीय सद्गुरूजी प्रणाम , मेरे संकल्प को आपका आशीर्वाद प्राप्त हुआ । बहुत बहुत आभारी हूँ ।  आपको नव वर्ष का शुभकामनाएँ ।

Santlal Karun के द्वारा
January 2, 2014

आदरणीय अनिल जी, आप के इन संकल्पों से मन में अजीब-सी प्रतिक्रिया हुई | दर असल कम लिखने की समस्या मेरी भी है | आप का दर्द समझ सकता हूँ — “मैं मात्र इतना ही संकल्प करता हूँ , कि वर्ष २०१४ में ,मैं नियमित रूप से प्रति माह कम से कम दो ब्लॉग पोस्ट अवश्य लिखुगा | मैं कोशिश करूंगा कि इस वर्ष मेरे ब्लॉग पोस्टों कि संख्या ५० के पार अवश्य पहुचे | कुछ लोगों के लिए यह हास्यासपद हो सकता है , परन्तु मेरे लिए यह ही महत्वपूर्ण है | अब रही बात कि इस संकल्प को मैं पूरा कैसे करूंगा | इस राह मेँ मेरी सबसे बड़ी बाधा , मेरा कम्प्यूटर और उसकी तकनीकों के पर्याप्त ज्ञान का आभाव है | इस आभाव को मैं समुचित प्रशिक्षण और सतत अभ्यास के द्वारा दूर करने का निश्चय करता हूँ | इसके अतिरिक्त मैं अनुभव करता हूँ , कि संकल्प को पूरा करने के लिए मुझको अपनी अंतर्मुखी प्रवृति से बाहर आना होगा | पुस्तकों के अतिरिक्त मनुष्यों का अध्ययन करना होगा | मैं इसकी कोशिश करूंगा |” नव वर्ष की मंगल कामनाएँ !

    anilkumar के द्वारा
    January 3, 2014

    आदर्णीय संतलाल जी , आप जैसे विद्वान की मेरे आलेख पर विचाराभिव्यति मेरे संकल्प को  और परिपुष्ट करे गी । बहुत बहुत धन्यवाद और नव वर्ष का शुभकामनाएँ ।

ranjanagupta के द्वारा
January 2, 2014

आपको अनिल जी विशेष बधाई !आप स्वयं को इतना निराश महसूस कर रहे थे !पर निर्णायक मंडल अपना काम कर रहा था ! आप बहुत अच्छा लिखते है !तकनीक तो अभ्यास की गुलाम है !आप कोशिश जारी रखे !!

    anilkumar के द्वारा
    January 3, 2014

    आदर्णीय रंजना जी , आपका ममत्वपूर्ण प्रोत्साहन मेरे लिये उपहार है । बहुत बहुत धन्यवाद और  नूतन वर्ष आपके लिये अत्यन्त मंगलकारी हो ।

yatindranathchaturvedi के द्वारा
January 2, 2014

मंगल कामनाओं के साथ बधाई आपको

    anilkumar के द्वारा
    January 3, 2014

    प्रिय यतीन्द्रनाथ जी , धन्यवाद , नव वर्ष की आपको बहुत बहुत शुभकामनायें ।


topic of the week



latest from jagran